India

अज़ीब : मध्य प्रदेश मे बारिश नहीं होने पर देवता को खुश करने के लिए नबालिग लडकियों को नं’गा कर घुमाया

मध्य प्रदेश के एक आदिवासी गांव में सूखे जैसी स्थिति से राहत पाने और बारिश के देवता को खुश करने के लिए नाबालिग लड़कियों को न’ग्न चलने और गांव के स्थानीय लोगों से भीख मागंने के लिए मजबूर किया गया था

अधिकारियों ने बताया कि यह घटना रविवार को दमोह जिले में एक रस्म के तहत हुई। मामले में राष्ट्रीय बाल ने अधिकारी संरक्षण आयोग से NCPCR ने दमोह जिले के प्रशासन इस मामले की रिपोर्ट मांगी हैं

कथित तौर पर सामने आए एक वीडियो में लगभग पांच साल की कम से कम 6 लड़कियों को न’ग्न अवस्था में अपने कंधों पर एक लकड़ी के शाफ्ट के साथ ही मेंढक को बांध दिया और सभी लड़की एक साथ चलती फिरती दिखाई दे रही थी और कुछ महिलाए गीत गाती हुई दिखाई दी है

इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट में, लड़कियां गांव के हर घर में जाती हैं और आटा, दाल और मुख्य अनाज के लिए भीख मांगती हैं। एकत्र की गई वस्तुओं को फिर गांव के मंदिर में ‘भंडारा’ के लिए दान कर दिया जाता है। इस दौरान सभी निवासियों को अनुष्ठान के दौरान ‘अनिवार्य रूप से’ उपस्थित रहना होगा।

एक अन्य क्लिपिंग में, कुछ महिलाओं ने कहा कि इस प्रथा से उस क्षेत्र में बारिश लाने में मदद मिलेगी जहां धान की फसल सूख रही है। उन्होंने कहा कि वे जुलूस के सहमति से की गई थी। दमोह के पुलिस अधीक्षक (एसपी) डीआर तेनिवार ने कहा कि पुलिस को स्थानीय प्रथा और प्रचलित सामाजिक बुराइयों के तहत कुछ लड़कियों को भगवान को खुश करने के लिए न’ग्न परेड करने के बारे में पता चला है। “पुलिस इस घटना की जांच कर रही है। अगर यह पाया गया कि लड़कियों को नं’गा कर इस अवस्था मे उन्हें मजबूर किया गया है तो उन पर सख्त कार्यवाही होगी

दमोह कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य ने कहा कि स्थानीय प्रशासन इस संबंध में एनसीपीसीआर को एक रिपोर्ट सौंपेगा। उन्होंने कहा कि इन लड़कियों के माता-पिता भी इस घटना में शामिल थे और ग्रामीणों को इस तरह की प्रथाओं की व्यर्थता समझाने के लिए जागरूकता अभियान शुरू किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: