India
Trending

जानिए उदयपुर हत्याकांड पर दावत-ए-इस्लामी के संथापक मौलाना इलियास अत्तारी ने क्या कहा।

उन्होंने कहा: दावते इस्लामी का नाम लेने वाला या मेरा मुरीद हमारे तरीके की खिलाफवर्जी करता है तो वो उसका पर्सनल मैटर है हमारा उसी कोई लेना देना नही।

उदयपुर हत्याकांड को लेकर तमाम ही लोग ग़मज़दा थे। और साथ ही कन्हैयालाल की दर्दनाक हत्या की भी सभी लोग मज़म्मत कर रहे हैं। साथ ही दोषियों के ख़िलाफ़ भी सख्त से सख़्त कानूनी कार्यवाही की मांग कर रहे हैं।

इस मामलों को ग्रह मंत्रालय ने डायरेक्ट NIA को जांच करने के आदेश दिए हैं। जांच में पता लगा कि दोनों आरोपी साल 2014 में पाकिस्तान गए थे। और वह दावत-ए-इस्लामी नाम की पाकिस्तानी सुन्नी तंज़ीम से जुड़े हुए थे।

इसमें कोई नई बात नहीं हैं कि वह दावत-ए-इस्लामी से जुड़े हुए थे यूं तो दुनिया भर के करोड़ो लोग पाकिस्तानी तंज़ीम दावत-ए-इस्लामी से जुड़े हुए हैं।

जब यह ख़बर जनता के सामने आई तो जनता ने सीधे तौर पर दावत-ए-इस्लामी को गुनहगार ठहराना शुरू कर दिया। उसके बाद दावत-ए-इस्लामी के संस्थापक मौलाना इलियास अत्तार क़ादरी की भी प्रतिक्रिया हमें देखने को मिली।

उन्होंने एक वीडियो जारी किया और उसमें कहा कि “दावत-ए-इस्लामी कानून की पाबंद है और क़ानून के खिलाफ नही जाता अगर दावते इस्लामी का नाम लेने वाला या मेरा मुरीद हमारे तरीके की खिलाफवर्जी करता है तो वो उसका पर्सनल मैटर है हमारा उसी कोई लेना देना नही।”

आगे वह वीडियो में कहते हैं कि “मेरे इंतकाल के बाद भी दावत-ए-इस्लामी वाले मौजूदा सियासत, हड़तालों, धरनों,रैलीयो से दूर रहे और अमन के साथ नेकी की दावत दें। जो हमारे इस तरीके के खिलाफ जाए उसका मुझे और दावत-ए-इस्लामी से कोई लेना देना नही। (उदयपुर मामले से दावते इस्लामी का कोई लेना देना नही)

वीडियो में वह आगे यह कहते हैं कि “उदयपुर हत्या में भी दावत-ए-इस्लामी का नाम लिया गया है ये उनका पर्सनल मैटर है पर उसका दावते इस्लामी से और मेरी तरबियत से कोई लेना देना नहीं”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button